बुधवार, फ़रवरी 13, 2013

त्रिवेणी- शब्द जो पहले सजाते थे, अब लजाते हैं

किसी को नेता कह दो तो गाली लगती है |

किसी को बाबू कह दो, साली, लगती है |



शब्द जो पहले सजाते थे, अब लजाते हैं |

कोई टिप्पणी नहीं: