सोमवार, जुलाई 06, 2009

ममता का पेड़

ममता के पेड़ की छाया तले
मैंने जीवन गुजारा ग़मों से परे
मैंने सीखा लुटाना प्रेम सबों पर
मैंने सीखा लगाना स्नेहलेप ग़मों पर
मन में मेरे तमन्ना यही है बसी-
मैं भी ममता का पेड़ हो सकूँ एक दिन.

2 टिप्‍पणियां:

UPENDRA ने कहा…

kis mamta ki bat kar rahe hai.

KESHVENDRA ने कहा…

Upendra, kahin uska nam mamta to nhi? Waise yahan mamta ke per se matlab Maa se hai.